उत्तर प्रदेश में पश्चिम से लेकर पूरब तक वायु में घुल रहा है जहर कई शहरों में वायु गुणवत्ता हुई खराब

उत्तर प्रदेश में पश्चिम से लेकर पूरब तक वायु में घुल रहा है जहर कई शहरों में वायु गुणवत्ता हुई खराब

यूपी के कई इलाकों में वायु गुणवत्ता खतरनाक स्तर पर पहुंच गई है  दिल्ली के साथ यूपी के कई इलाकों की हवा प्रदूषित हो गई है

यूपी में हवा का AQI लेवल 342 दर्ज किया गया है  जो की बेहद ही खराब स्थिति है 

वैज्ञानिकों के मुताबिक इस मौसम में प्रदूषण का बढ़ना स्वाभाविक है क्योंकि गर्मियों की हवा में घनत्व कम होता है और तापमान ज्यादा होता है जिसके कारण प्रदूषण का वातावरण के ऊपरी सतह तक चले जाते हैं 

यह बढ़ता प्रदूषण हम सबके लिए बहुत ही हानिकारक है इसके कारण सांस लेने में तकलीफ ,आंखों में जलन, नाक में जलन, त्वचा पर रैशेज या दाने जैसी समस्याओं का सामना  करना पड़ सकता है

प्रदूषण को कम करने के लिए कई कदम उठाए जा सकते हैं। प्रदूषण कम करने के लिए हमें सामाजिक सभ्यता में परिवर्तन करने की आवश्यकता है और जागरूकता फैलाने का प्रयास करना होगा। निम्नलिखित हैं कुछ कदम जो हम प्रदूषण को कम करने में अपना योगदान दे सकते हैं:

  1. पब्लिक परिवहन का उपयोग करें: व्यक्तिगत वाहनों का उपयोग कम करने के लिए पब्लिक परिवहन का उपयोग करें, जैसे कि बस, मेट्रो, ट्रेन, या कारपूलिंग।

  2. गैर-मोटरी यातायात को प्रोत्साहित करें: साइकिल, कदम-कदम, और इलेक्ट्रिक स्कूटर जैसे गैर-मोटरी यातायात को प्रोत्साहित करने से प्रदूषण कम हो सकता है।

  3. वनस्पति लगाएं: पेड़ों और पौधों को लगाने से हम वायुमंडलीय प्रदूषण को कम कर सकते हैं, क्योंकि वनस्पति ऑक्सीजन उत्पन्न करती है और कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित करती है।